जैन धर्म के अनुसार गर्भ संस्कार की क्या प्रक्रिया है?

150 150 admin
शंका

जैन धर्म के अनुसार गर्भ संस्कार की क्या प्रक्रिया है?

समाधान

आप आदि पुराण पढ़ेंगे तो उसमें गर्भान्वय, कर्तान्वय, दीक्षान्वय के ५३ संस्कार श्रावकों में हैं। मैं आपको सार में बताता हूँ।

में जब कोई बच्चा गर्भ में आता है, तो एक भ्रूण विकसित होता है, उसका उसकी माँ से गहरा संवाद होता है। आज विज्ञान भी इस बात को मानता है। हम लोगों ने अर्जुन और सुभद्रा की कथा सुनी है और विज्ञान भी इस बात को मानता है कि पेट में आने वाले बच्चे का माँ के साथ गहरा संवाद होता है और उस पर उसकी माँ की भावनाओं और प्रवृत्तियों का गहरा असर पड़ता है। इसलिए अगर आप एक अच्छे सन्तान की माँ बनना चाहती हैं, तो पहला कार्य तो ऐसा है कि जैसे ही pregnancy (गर्भाधान) हो तो गर्भ के पूरे नौ माह के काल तक ब्रम्हचर्य व्रत, शील व्रत का पालन करो, उससे उत्तम सन्तान होगी। जो भोगाकांक्षी होते है, वासना-लालायित दम्पति होते हैं, वह अच्छी सन्तान को जन्म देने का सौभाग्य नहीं पा पाते। उन्हें संयम चाहिए, काम पुरुषार्थ का बीज हमने बोया है, वह फल रहा है, तो उसे फलने दो। जब तक वो सन्तान जन्म न ले, तब तक ब्रह्मचर्य से रहो, अपने आप को यथासम्भव संक्लेश से मुक्त रखो।

ऐसा कोई निमित्त पैदा न होने दो जिससे मन में मलिनता पैदा हो, अधिकतम समय धार्मिक चिंतन, ललित कला या आमोद-प्रमोद में लगाओ, जिससे मन एकदम प्रसन्न रहे। महापुरुषों की जीवन गाथा पढ़ो और सुनो, टीवी से दूर रहो, भले ही पारस चैनल क्यों न हो! क्योंकि इससे जो रेंज निकलती है, वो बच्चे के लिए हानिकारक हो सकती है, डॉक्टर भी इसके बारे में बोलते हैं। पूजा पाठ करो और तीर्थंकरों के चरित्र, अन्य महापुरुषों के चरित्र की कथाओं को सुनो-पढ़ो, तो आप एक उत्तम सन्तान की जननी होने का सौभाग्य पा सकेंगी। 

सन्तान को तो हर माँ जनती है, लेकिन सुसन्तान को जन्म देने का श्रेय कोई संस्कारित माँ ही पाती है। संस्कारित माँ ही संस्कारित बच्चे की जन्मदात्री बनने का सौभाग्य पा सकती है। संयम के संस्कार हमारे अन्दर पलने चाहिए और यह संस्कार यदि बलवान होंगे, निश्चित तुम्हारा कल्याण होगा। आर्यिका विज्ञानमति ने कुछ पुस्तकें लिखी हैं- शील मंजूषा और संस्कार मंजूषा, हर गर्भवती स्त्री को उसे पढ़ना चाहिए और हर घर में उसकी प्रतियाँ होनी चाहिए। आप एक अच्छे सन्तान को जन्म देने का सौभाग्य पा सकेंगी।

Share

Leave a Reply