क्या देवी देवता मंदिर की रक्षा करते हैं?

150 150 admin
शंका

क्या जैन मन्दिर में धरणेन्द्र – पद्मावती की मूर्ति होना अति आवश्यक है? यदि है, तो क्या ये मन्दिर की रक्षा करते है?

समाधान

मन्दिर भगवान का हैं और मन्दिर में भगवान ही पर्याप्त हैं किसी अन्य देवी-देवता की जरूरत नहीं। रक्षा तो कोई नहीं करता। हमारा अपना पुण्य-पाप करता है। यदि ये हमारे रक्षक ही होते तो हमारी इतनी मूर्तियों को बड़े-बड़े जिन बिम्बों को भंजकों द्वारा खंडित नहीं किया गया होता। हमारी संस्कृति पर इतना अधिक कुठाराघात नहीं किया गया होता। सात सौ मुनि राजों पर जब उपसर्ग हुआ तब ये शासन देवी देवता कहाँ थे? हजारों-लाखों प्रतिमायें खंडित कर दी गई, मन्दिर तोड़ दिए गये उस समय ये शासन देवी देवता कहाँ थे? गोपाचल के किले में जाकर देखो कि वहाँ सब विद्यमान है पर मूर्तियों को कैसे खंडित किया गया है? ये एक व्यवस्था है, लोगों की मान्यता है, जिनकी जो मान्यता है वो करे लेकिन मैं ये कहना चाहता हूँ कि हमारे उपास्य वीतराग हैं ये कभी न भूलें।

Share

Leave a Reply